Monday, January 21, 2008

Kholo Kholo (Open open) from Taare Zameen Par (2007)

Following the previous song, here is one more song from the same movie. The title of the song is Kholo kholo (Open open in Hindi). Following are the details of the song:

Album: Taare Zameen Par (2007)
Singer: Shankar Mahadevan,
Dominique Cerejo, Vivienne
Lyricist: Prasoon Joshi
Music: Shankar Mahadevan, Ehsaan Noorani, Loy Mendonca
Following are the beautiful lyrics (Hindi), written by Prasoon Joshi:

खोलो खोलो दरवाज़े,
परदे करो किनारे,
खुटे से बंधी है हवा,
मिल के छुडाओ सारे...

आजाओ पतंग लेके,
अपने ही रंग लेके,
आसमाँ का शामियाना,
आज हमे है सजाना...

क्यों इस कदर... हैरान तू?
मौसम का है... मेहमान तू...
दुनिया सजी... तेरे लिए...
खुद को ज़रा... पेह्चान तू...

तू धुप है... छम से बिखर।
तू है नदी... ओ बेखबर।
बेह चल कहीं। उड़ चल कहीं।
दिल खुश जहाँ... तेरी तो मंजिल है वहीं...

क्यों इस कदर... हैरान तू?
मौसम का है... मेहमान तू...

बासी ज़िंदगी उदासी,
ताजी हँसने को राज़ी,
गरमा गरम सारी,
अभी अभी है उतारी।

ओ... ज़िंदगी तो है बताशा
मीठी मीठी सी है आशा
चख ले रख ले
हथेली से ढक ले इसे।

तुझ में अगर... प्यास है।
बारिश का घर... भी पास है।
ओ... रोके तुझे... कोई क्यों भला
संग संग तेरे... आकाश है।

तू धुप है... छम से बिखर
तू है नदी... बेखबर
बेह चल कहींउड़ चल कहीं
दिल खुश जहाँ... तेरी तो मंजिल है वहीं...

खुल गया... आसमाँ का रास्ता देखो खुल गया...
मिल गया... खो गया था जो सितारा मिल गया...

रोशन हुई... सारी ज़मीं...
जगमग हुआ... सारा जहाँ...
ओ... उड़ने को तू... आजाद है...
बंधन कोई... अब है कहाँ?

तू धुप है... छम से बिखर
तू है नदी... बेखबर
बेह चल कहींउड़ चल कहीं
दिल खुश जहाँ... तेरी तो मंजिल है वहीं...

ओ... क्यों इस कदर... हैरान तू?
मौसम का है... मेहमान तू...

Sunday, January 20, 2008

Maa (Mother) from Taare Zameen Par (2007)

A wonderful song that describes the feelings of a child on being separated from his mother. The title of the song is Maa (Mother in Hindi). Following are the details of the song:
Album: Taare Zameen Par (2007)
Singer: Shankar Mahadevan,
Lyricist: Prasoon Joshi
Music: Shankar Mahadevan, Ehsaan Noorani, Loy Mendonca
Following are the beautiful lyrics (Hindi), written by Prasoon Joshi:
मैं कभी, बतलाता नहीं,
पर अँधेरे से डरता हूँ मैं, माँ
यूं तो मैं, दिखलाता नही,
तेरी परवाह करता हूँ मैं, माँ
तुझे सब हें पता.. हें ना माँ?
तुझे सब हें पता... मेरी माँ

भीड़ में यूं न छोडो मुझे,
घर लौट के भी आ ना पाऊँ माँ।
भेज ना इतना दूर मुझको तू
याद भी तुझको आ ना पाऊँ माँ।
क्या इतना बूरा हूँ मैं माँ?
क्या इतना बूरा... मेरी माँ।

जब भी कभी... पापा मुझे...
जो ज़ोर से... झूला झुलाते हें, माँ...
मेरी नज़र... ढूँढे तुझे...
सोचु यही... तू आके थामेगी, माँ।
उनसे मैं, ये कहता नही...
पर मैं... सहम जाता हूँ, माँ।
चेहरे पे... आने देता नहीं
दिल ही दिल में... घबराता हूँ माँ।
तुझे सब हें पता.. हें ना माँ?
तुझे सब हें पता... मेरी माँ

मैं कभी, बतलाता नहीं,
पर अँधेरे से डरता हूँ मैं, माँ
यूं तो मैं, दिखलाता नही,
तेरी परवाह करता हूँ मैं, माँ
तुझे सब हें पता.. हें ना माँ?
तुझे सब हें पता... मेरी माँ
Here is a translation of the lyrics (I understand that this translation may not be able to bring out the beauty of the song, as the original lyrics; please let me know if there is a more appropriate translation):
I never, do tell you,
But I am frightened by the darkness, mother
Usually I, don't show,
But I do care about you, mother
You know it all, isn't it mother?
You know it all, my mother.

Don't leave me like this in the crowd
Such that I am not able to come back to the home.
Don't send me so far
Such that you don't remember about me at all.
Am I that bad, mother?
That bad... my mother?

Whenever... father...
Quickly... swing me, mother...
My eyes... seek for you...
I do think this... you will come to hold me, mother...
I don't... tell him this...
But I do... get scared, mother
On the face... I don't let this come
In the heart... I get frightened, mother
You know it all, isn't it mother?
You know it all, my mother.

I never, do tell you,
But I am frightened by the darkness, mother
Usually I, don't show,
But I do care about you, mother
You know it all, isn't it mother?
You know it all, my mother.